NCPCR
pause play

पाॅक्सो से संबंधित गतिविधियां

Last Updated On: 15/04/2019

लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण (पाॅक्सो) अधिनियम, 2012 के अन्तर्गत दिये गये अधिदेश के अनुसार राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने निम्नलिखित कार्य प्रारम्भ किये हैं:
1.    लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण (पाॅक्सो) अधिनियम, 2012 की कार्यान्वयन स्थिति पर राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों से जानकारी मांगी गई;
2.    पीड़ित मुआवजा योजनाओं के क्रियान्वयन पर राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में जानकारी मांगी गई;
3.    लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण (पाॅक्सो) अधिनियम, 2012 की धारा 19 (6) की अपेक्षानुसार पाक्सो अधिनियम के अन्तर्गत दर्ज किये गये मामलांे तथा जिला बाल कल्याण समिति को रिपोर्ट किये गये मामलों में प्रश्नावली के जरिये राज्य/केन्द्र शासित प्रदेश से जानकारी प्राप्त की गई;
4.    लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण (पाॅक्सो) अधिनियम, 2012 के अन्तर्गत बाल कल्याण समितियों के पास दर्ज मामलों के ब्यौरे प्राप्त करने के लिए महिला एवं बाल विकास /समाज कल्याण/सामाजिक सुरक्षा के राज्य/केन्द्र शासित सचिवों को प्रशासित प्रश्नावली लागू की गई।
5.    राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोगों में निम्नलिखित सूचनापरक दस्तावेजों का प्रचालन:

  •     पुलिस के लिए एडवाइजरी
  •     पाॅक्सो अधिनियम, 2012 के क्रियान्वयन के लिए बालोनुकूल प्रक्रिया
  •     बाल शिकार चार्टर
  •     पाॅक्सो का पैम्फलेट
  •     बाल लैंगिक दुव्र्यवहार की शिकायतों पर कार्रवाई करने हेतु दिशानिर्देश

6.    अधिवक्ता संगठन तथा यूनिसेफ के साथ मिलकर दिशानिर्देश तैयार करना:

  •     पुलिस के लिए दिशा निर्देश
  •     विशेष न्यायालयों के लिए दिशानिर्देश
  •     विशेष अभियोजकों के लिए दिशानिर्देश
  •     बाल कल्याण समितियों के लिए दिशानिर्देश, और
  •     स्वास्थ्य व्यावसायिकों के लिए दिशानिर्देश।

7.    आई.ई.सी. सामग्री का निर्माण
8.    बाल के साथ लैंगिक दुव्र्यवहार की रोकथाम के लिए राज्य/संघ राज्य क्षेत्र शासित प्रदेश और गैर सरकारी संगठनों द्वारा तैयार की गयी आई.ई.सी. सामग्री का पुनरीक्षण करना तथा उसे अन्य राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों में प्रसारित करना।

Top
Top
Back
Back